Udaygiri Khandgiri

Shri Khandagiri Udaygiri Digambar Jain Siddha Kshetra

Village Khandagiri-Bhubaneshwar, District -Khordha, Orissa 751030

Bhubaneshwar -8km

From here 500 sons of King Jatharad attained Nirwan and hence this is a Siddha Kshetra. The small twin hills Khandagiri and Udaygiri have 23 Caves and 5 Digambar Jain Temples. Khandgiri has 18 caves which are huge and worth see (All of them). Khandagiri has 5 caves, 4 temples and 1 Dharamshala with a Temple. Lord Mahavir’s samasharan had come to this place. Both the hills are quite small in size (40 meters) with 125 steps in Total and worth visit.

श्री खंडगिरि – उदयगिरि दिगम्बर जैन सिद्धक्षेत्र ग्राम – खंडगिरि – भ्ुवनेश्वर, जिला – खुरड़ा, (उड़ीसा) पिन – 751 030
ग्राम/तहसील – ग्यारसपुर, जिला – विदिशा, (मध्यप्रदेश) पिन – 646 331

रेलवे स्टेशन : भुवनेश्वर – 8 कि.मी.

बस स्टेण्ड : वरमुण्डा बस स्टेण्ड

पहुंचने का सरल मार्ग : रेल अथवा सड़क मार्ग से, भुवनेश्वर से टेम्पो, आॅटो रिक्शा उपलब्ध रहते है।

निकटतम स्थान : भुवनेश्वर – 8 कि.मी., कटक – 30 कि.मी.

उदयगिरि पहाड़ी 35 मीटर ऊंची है। जिसमें 18 गुफाएं भव्य एवं दर्शनीय हैं तथा 2500 वर्ष पुराना एक शिला लेख हैं। खंडगिरि पहाड़ी लगभग 40 मीटर ऊंची है। यहां 4 जिनालय एवं 5 गुफाएं हैं। अनंत गुफा में डेढ हाथ की कायोत्सर्ग जिन प्रतिमा है। इन्द्रकेसरी गुफा में 8 प्रतिमाएं अंकित है। आदिनाथ गुफा में 24तीर्थंकर की प्रतिमाएं हैं। यहां भगवान महावीर का समवशरण आया था अतः यह अतिशय क्षेत्र भी माना जाता है। यहां से जदरथ राजा के 500 पुत्र मोक्ष गये थे, अतः यह सिद्धक्षेत्र भी है।

लिंगाराज टेम्पल – 10 कि.मी., धवलगिरि – 15 कि.मी., कोणार्क – 65 कि.मी., नंदनकानन – 21 कि.मी., जगन्नाथपुरी – 60 कि.मी., कटक रु0 कि.मी., ये सभी दर्शनीय स्थल है।

Google Map shows the exact location of the Twin hills.